Friday, April 1, 2016

तारुफ़ रोग हो जाए..... साहिर लुधियानवी

तारुफ़ रोग हो जाए तो उसको भूलना बेहतर,
ताल्लुक बोझ बन जाए तो उसको तोड़ना अच्छा ।
वो अफ़साना जिसे अन्जाम तक लाना न हो मुमकिन,
उसे एक ख़ूबसूरत मोड़ देकर छोड़ना अच्छा ॥

No comments:

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...