Saturday, June 6, 2015

फ़िल्टर

कुर्ते की जेब से
नज़्में तुम्हारे नाम की
पानी में बहा दीं.

पानी गुलाबी हो गया,
'लव पिंक कलर' का.

उफ़! ये आर.ओ.  ( R. O. )
सब फ़िल्टर हो गया.
तुमने पिया साफ़ पानी
इश्क़ और नज़्में सिंक में तड़प रही हैं.

No comments:

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...